Swadheenta Andolan aur Sahitya
स्वाधीनता आन्दोलन और साहित्य

Swadheenta Andolan aur Sahitya
स्वाधीनता आन्दोलन और साहित्य

500.00

Available on backorder

Editor(s) — Shyambabu Sharma
संपादक — श्यामबाबू शर्मा

| ANUUGYA BOOKS | HINDI| 300 + Pages | HARD BOUND | 2022 |
| 6.5 x 9.625 Inches | 450 grams | ISBN : 978-93-95380-??-? |

Available on backorder

Description

अनुक्रम

भारतीय नव-जागरण एवं विविध वैचारिक आन्दोलन
प्रो. सुरेश आचार्य

स्वाधीनता संग्राम में संस्कृत  की भूमिका
प्रो राधावल्लभ त्रिपाठी

स्वाधीनता आंदोलन और भारतीय पत्रकारिता
विजयदत्त श्रीधर

आज़ादी और आदिवासी
हरिराम मीणा

क्रांतिकारियों की कलाम ने भी लड़ी आज़ादी की लड़ाई
सुधीर विद्यार्थी

स्वतंत्रता : अवधारणा और वैचारिकी
प्रो सेवाराम त्रिपाठी

जनगण तेरी जय हो..
प्रो अली एम सैयद

भारतीयता का दर्शन
डॉ लक्ष्मी पांडेय

बोल छंदों में हिंदुस्तान
रामकुमार कृषक

गांधी चेतना का लोक विस्तार
वसन्त निरगुणे

स्वतंत्रता-आंदोलन में पंजाबी की भावाभिव्यक्ति
प्रो पांडेय शशिभूषण ‘शीतांशु’

स्वराज्य मेरा जन्मसिद्ध अधिकार है…(स्वराज्य और मराठी साहित्य)
डॉ रामप्रकाश

राष्ट्रीयता के प्रखर स्वर
प्रो प्रतापराव कदम

राष्ट्रीय चेतना के परिप्रेक्ष्य में सिंधी साहित्य
डॉ. सुरेशकुमार केसवानी

बीसवीं सदी का पूर्वार्ध और अवधी कविता
डॉ सन्त लाल

गुजराती साहित्य में स्वाधीनता की अनुगूँज
डॉ. अभय दोशी

कश्मीरियत और आज़ादी का उत्सर्ग
काजल सूरी

वन्दे मातरम…वन्दे मातरम! (बांग्ला कलम की भूमिका)
डॉ रेशमी पांडा मुखर्जी

स्वतंत्रता आंदोलन और असमिया साहित्य
डॉ. अनिंद्य गंगोपाध्याय

पूर्वोत्तर के हिन्दी साहित्य में रास्ट्रीय तत्व(विशेष सन्दर्भ मणिपुरी साहित्य)
डॉ कंचन शर्मा

स्वतंत्रता के महायज्ञ में उड़िया साहित्य
डॉ सौम्येन्द्र कुमार पांडा

संताली लोक साहित्य में स्वाधीनता का राग
महेंद्र बेसरा ‘बेपारी’

स्वतंत्रता संग्राम तथा कन्नड़ साहित्य
प्रो. धरणेंद्र कुरकुरी

स्वतंत्रता संघर्ष और मलयालम साहित्य
प्रो जय कृष्णन

तेलुगु साहित्य में स्वाधीनता आंदोलन
प्रो आर एस सर्राजु

नेनू ना देशम्
प्रो एस एम इकबाल

स्वतंत्रता संग्राम में तमिल साहित्य एवं साहित्यकार
डॉ. पी राजरत्नम

प्रवासी साहित्य में आजादी का संकल्प
डॉ.माणिक विश्वकर्मा ‘नवरंग’

स्वतंत्रता पूर्व भारतीय सिनेमा
प्रो हूबनाथ

राष्ट्रीय जनजागरण और हिंदी नाटक
डॉ सतीश पावड़े

राष्ट्रीय चेतना से अनुप्राणित उपन्यास साहित्य
प्रो. योगेन्द्र नाथ शुक्ल

स्वतंत्रता आंदोलन में हिन्दी काव्य की भूमिका
डॉ. रश्मि दीक्षित

कथा साहित्य में स्वाधीनता बोध
डॉ श्रीपर्णा तरफदार

सांस्कृतिक अस्मिता और हिंदी निबंध
दिव्या प्रसाद

सारे जहां से अच्छा
श्यामबाबू शर्मा

प्रिय स्वतंत्र रव…भारत में भर दे!
डॉ. सरलता


 

Reviews

There are no reviews yet.

Be the first to review “Swadheenta Andolan aur Sahitya
स्वाधीनता आन्दोलन और साहित्य”

Your email address will not be published.

This website uses cookies. Ok