Rigveda (Bhavarth of selected Richas in English & Hindi)
ऋग्वेद (हिन्दी व अंग्रेजी में सरलीकृत चयनित ऋचायें)

Rigveda (Bhavarth of selected Richas in English & Hindi)
ऋग्वेद (हिन्दी व अंग्रेजी में सरलीकृत चयनित ऋचायें)

400.00

50 in stock

Translator(s) — Abhishek Shrivastava
अनुवादक  — ज्ञानेन्द्र अवाना

| ANUUGYA BOOKS | HINDI | 2022 |

| Will also be available in HARD BOUND |

Choose Paper Back or Hard Bound from the Binding type to place order
अपनी पसंद पेपर बैक या हार्ड बाउंड चुनने के लिये नीचे दिये Binding type से चुने

Description

पुस्तक के बारे में

युङ्क्ष्वा हि केशिना हरी वृषणा कक्ष्यप्रा।
अथा न इन्द्र सोमपा गिरामुपश्रुतिं चर॥

(ऋग्वेद १-१०-३)

हमारी उपासना का रसपान करने वाले, परमेश्वर! आप ब्रह्मांड को चलाने के लिए रथ के घोड़ों की तरह द्यूलोक और पृथ्वीलोक को जोड़े हुए हों। इसी प्रकार, आप हमारी प्रार्थना सुनें और हमारी ज्ञानेंद्रियों और कर्मेन्द्रियों को रथ के घोड़ों की तरह जोड़ कर आगे बढ़ने के लिए प्रेरित करें, ताकि हम आप तक पहुँच सकें।

O drinker of our juice of devotion, the God! You move Dyulok and Prithvilok in coordination like chariot horses to run the show of Universe. Similarly, You listen to our prayer and make our Gyanendriya and Karmendriyan to move like chariot horses in coordination to enable us to reach You. (Rig Veda 1-10-3)

…इसी पुस्तक से…

तत्त्वा यामि ब्रह्मणा वन्दमानस्तदा शास्ते यजमानो हविर्भिः।
अहेळमानो वरुणेह बोध्युरुशंस मा न आयुः प्र मोषीः॥

(ऋग्वेद १-२४-११)

हे परमेश्वर! हम आपकी प्रार्थना करते हैं और महिमा के गीत गाते हैं। आपने सूर्य, तारे आदि को प्रकाश दिया है। हमें भी ज्ञान का प्रकाश दें। हमारे इस जीवन को समय से पहले वंचित ना करें। हमें पूरा जीवन काल प्रदान करें।

O lord! we praise and sing the song of your glory. You have given light to Sun, Stars etc. You also enlighten us. Don’t deprive us our existence in this life prematurely. Provide us full life span. (Rig Veda 1-24-11)

…इसी पुस्तक से…

Additional information

Weight 400 g
Dimensions 9 × 6 × 0.5 in
Binding Type

,

Reviews

There are no reviews yet.

Be the first to review “Rigveda (Bhavarth of selected Richas in English & Hindi)
ऋग्वेद (हिन्दी व अंग्रेजी में सरलीकृत चयनित ऋचायें)”

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This website uses cookies. Ok